Main content

सिविल और पर्यावरण इंजीनियरिंग विभाग
 

परिचय

 सिविल एवं पर्यावरण अभियंत्रण विभाग जो पहले सिविल अभियंत्रण शिक्षा विभाग के नाम से जाना जाता था,  इसकी स्थापना वर्ष 1965 में हुई थी। इस विभाग ने संस्थान की सभी राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्तर के मुख्य कार्यो मे योगदान दिया है। जिनमें कुछ कार्य निम्नलिखित हैः- 
  • विश्व बैंक पोषित तकनीकी शिक्षा परियोजना 1, 2 एवं 3 (अकादमिक सलाहकार)।
  • पर्यावरण प्रशिक्षण संस्थान कर्नाटक एवं तमिलनाडु के लिए प्रशिक्षण पैकेज का निर्माण।
  • विभिन्न राज्यों के लिए उनके विषयों पर पाठ्‌यचर्या विकास।
  • महाराष्ट्र राज्य के लिए प्रयोगशाला परियोजना।
  • मृदा अभिकल्पन विषय पर 16 वीडियो फिल्म का निर्माण। 
  • विषय आधारित लघु अवधि प्रशिक्षण कार्यक्रम।
  • गुजरात राज्य के लिए मल्टी पॉइंट एन्ट्री एवं क्रेडिट सिस्टम (MPECS)।

 विजन 

  • सिविल एवं पर्यावरण अभियन्त्रण विभाग तकनीकी शिक्षा प्रणाली।
  • मानव संसधन विकास की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए संस्थान के मेन्डेट एवं मिशन के अनुसार सर्वोत्तम अकादमिक लीडर, चेन्ज एजेन्ट एवं योगदानकर्ता का कार्य करेगा।
  • निर्माण उद्योग एवं संबंधित क्षेत्रों की

मिशन

  • तकनीकी शिक्षा में सुधार एवं इनोवेशन के लिए शिक्षा एवं प्रशिक्षण, रिसर्च एवं डेबलेपमेन्ट (शोध एवं विकास) का कार्य।
  • निर्माण उद्योग सर्विस सेक्टर संगठन, मानव संसाधन की कम्यूनिटी शिक्षा, प्रशिक्षण एवं विकास।
  • चुने हुए मानव संसाधन विकास क्षेत्र में योगदान
  • पर्यावरण शिक्षा एवं प्रबंधन प्रणाली को सत्‌त विकास के लिए तकनीकी शिक्षा, उद्योग एवं कम्यूनिटी के साथ जोड़ना एवं परफॉरमेंस में सुधार।
  • संकाय, कर्मचारी एवं क्लाइंट के लिए निरंतर प्रोफेशनल विकास को प्रोत्साहित करना। 
civil

 विभागीय सुविधाएं :- (जिओटेक्निकल लैबोरेटरी) 

क्र.संख्या    प्रयोग का नाम

  1. सौइल डेन्सिटी टेस्ट
  2. सीव एनालिसिस टेस्ट
  3. कैलिकोर्निया बियरिंग
  4. वाटर कन्टेन्ट डिटरमिनेशन टेस्ट
  5. लिक्विड लिमिट टेस्ट
  6. प्लास्टिक लिमिट टेस्ट
  7. सिकेंज लिमिट टेस्ट
  8. अन कन्साइन्ड कम्प्रेशन टेस्ट
  9. चल डाइमेंस्नल कन्सोलिशन टेस्ट
  10. कम्पैनशन टेस्ट
  11. ट्राइएक्सिअल टेस्ट
  12. डाइटेक्ट शियर स्ट्रेन्प टेस्ट
  13. शियर स्ट्रेन्प एवं सेन्सिलिविटी ऑफ सोइल
  14. सोइल परकिएशीलिटी टेस्ट 

कन्सट्रेक्शन टेक्नोलॉजी लैबोरेटरी :-

 क्र.संख्या           प्रयोग का नाम 

  1. बोरवेल कन्सिस्टेन्सी ऑफ सीमेन्ट 
  2. सैटिंग टाइम ऑफ सीमेन्ट 
  3. साउन्डनेस ऑफ सीमेन्ट 
  4. फाईनेन्स ऑफ सीमेन्ट 
  5. पाटिकल साइज एवं शेप
  6. फ्लेकिनेंस एवं एलोनमेशन इन्डेक्स
  7. नेन डिस्ट्रक्टिव टेस्ट
  8. क्रांक्रीट की कन्सिलटेन्सी
  9. पॉइन्ट लोड स्टेन्ध इन्डेक्स ऑफ टोन
  10. स्टील बार का टेन्साइल स्ट्रेन्ध टेस्ट
  11. बैल्डिंग स्ट्रेन्थ टेस्ट (स्टीर बार)
  12. सिमर स्ट्रेन्थ टेस्ट (स्टीर बार)
  13. सीमेन्ट/ क्रांक्रीट की कम्प्रेसिस स्ट्रेन्थ
  14. एग्रीगेट की क्रशीग स्ट्रेन्थ
  15. क्रांक्रीट का स्लम्प टेस्ट

 

उपलब्ध साफ्टवेयर एवं उपयोग 

1.       स्ट्रड्‌स                          -स्ट्रक्चरल एनालिसिस एवं डिजाइन

2.       एस.इ.पी.एल.              -वाटर टैंक की स्ट्रक्चरल एनालिसिस एवं डिजाइन

3.       क्यू.ई.ओ.                     -क्वांटिटी एस्टीमेशन एवं निर्माण परियोजना प्रबंधन

4.       प्राइमावेस                     -निर्माण कार्यों के लिए प्लानिंग एवं शेडयूलिंग

5.       मैप इन्फो.                   -डाटा के लिए विजुवलाइज, क्वेरिंग एव एक्सफ्लोरिंग

6.       जैड डब्लू. कैड.            -ड्राफ्टिंग एवं डिजाइन कार्य

7.       स्टैड प्रो.                       -स्ट्रक्चरल एनालिसिस एवं डिजाइन

8.       स्टैड फाउन्डेशन           -फाउन्डेशन की एनालिसिस एवं डिजाइन

9.       माइक्रो स्टेशन             -डिजाइन, मोडेल, विजुवलादज, डाकुमेंट एवं मैपिंग

10.     सीवर जैम                   -सैनिटरी एवं सीवर लाइन मौडलिंग

11.     एम.एक्स. सूट             -सड़क एवं हाइवे डिजाइन एवं मोडलिंग

12.     पावर सिविल               -लोकल इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट

13.     स्टोर्म-कैड                     -स्टोर्म सीवर के लिए मोडलिंग, एनालिसिस एवंडिजाइन

14.     पावर ड्राफ्ट                  -ड्राफ्टिंग एवं डिजाइन (2डी/3डी)

15.     पावर रीडर                   -रिनफोर्सड एरेन्जमेंट

16.     आर्किटेक्चर                  -वास्तुविद डिजाइन एवं डाकुमेन्टेशन

17.     स्ट्रक्चरल                     -स्ट्रक्यरल सिस्टम की डिजाइन एवं डाकुमेंटेशन

18.     पावर मैप                     -जियोस्पेक्टिकल डाटा निर्माण,अनुरक्षण एवंएनालिसिस

19.     वाटर जैम्‌स                 -जल डिस्ट्रिब्यूशन मॉडल एवं प्रबंधन

20.     आटोकैड                       -ड्राफ्टिंग एवं डिजाइन कार्य

21.     मैट लैब                       -गणितीय प्रयोग

22.     एम.एस. प्रोजेक्ट         -परियोजना प्रबंधन

23.     टूल बुक                       -सीबीटी विकास

18

डॉ. जे.पी. टेगर

प्राध्यापक एवं विभागाध्यक्ष

ई मेल: This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

प्रमुख कार्य क्षेत्र -

  • जियोटेक्नीकल इंजीनियरिंग
  • प्रयोगशाला विकास
  • पाठ्‌यचर्या विकास एवं डिजाइन
  • इनडक्शन ट्रेनिंग कार्यक्रम
  • कम्प्यूटर एडेड डिजाइन

और जानें............

72

डॉ. वी.एच. राधाकृष्णन

प्राध्यापक  

ई मेल: This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

 प्रमुख कार्य क्षेत्र -

  • जियोटेक्नीकल इंजीनियरिंग
  • स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग     
  • निर्माण प्रौद्योगिकी
  • पर्यावरण शिक्षा एवं इंजीनियरिंग
  • शैक्षिक परियोजना प्रबंधन एवं इवेल्यूएशन
  • पाठ्‌यचर्या विकास, डिजाइन एवं इवेल्यूएशन एवं एक्रेडिटेशन
  • इन्स्ट्रक्शनल सिस्टम डिजाइन एवं विकास
  • कम्पीटेन्सी आधारित शिक्षा एवं प्रशिक्षण

और जानें............  

79

डॉ. राजेश कुमार दीक्षित,

प्राध्यापक

ई मेल:   This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

प्रमुख कार्य क्षेत्र -

  • जियोटेक्नीकल इंजीनियरिंग
  • परियोजना प्रबंधन
  • मैनपावर प्लानिंग
  • कम्प्यूटर एडेड इन्सट्रक्शनल डिजाइन
  • दूरस्थ एवं सतत शिक्षा प्रणाली विकास

और जानें............

image023

डॉ. अजय कुमार जैन

    प्राध्यापक

 ई मेल: This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

 प्रमुख कार्य क्षेत्र -

  • स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग
  • एप्रोप्रिएट टेक्नालाजी विकास
  • ग्रामीण विकास एवं कम्यूनिटी विकास

और जानें............

83

प्रो. एम.सी. पालीवाल

सह-प्राध्यापक

 प्रमुख कार्य क्षेत्र -

  • स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग
  • प्रयोगशाला डिजाइन
  • तकनीकी शिक्षक प्रशिक्षण
  • पाठ्‌यचर्या विकास एवं डिजाइन
  • रिमोट सैन्सिंग एवं जी.आई.एस.
  • साफ्टवेयर बेस्ट ट्रेनिंग

                  और जानें............

sroy

डॉ. सुब्रत रॉय

प्राध्यापक

 ई मेल: This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

प्रमुख कार्य क्षेत्र -