Main content

कैसे पहुँचे

रा.त.शि.प्र.अनु.सं.(NITTTR), भोपाल झीलों, पहाड़ों तथा खूबसूरत उद्यानों के शहर भोपाल के हृदयस्थल में स्थित है। भोपाल शहर रेल, सड़क और हवाई मार्ग सें अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। निम्न से रा.त.शि.प्र.अनुसं., भोपाल की लगभग दूरी निम्नानुसार है :-

      हवाई अड्‌डा   :     13 कि.मी.  

      रेल्वे स्टेशन   :     07 कि.मी.

       बस अड्‌डा    :     07 कि.मी.

भोपाल की स्थिति : 

भोपाल भारतवर्ष के केन्द्रीय क्षेत्र में मध्य प्रदेश के उत्तर-पश्चिमी भाग में स्थित है।

हवाई जहाज से :    नियमित उड़ानें भोपाल को नई दिल्ली, ग्वालियर, इन्दौर और मुम्बई से जोड़ती हैं।

रेल से :           भोपाल दिल्ली चेन्नई मेन लाइन पर हैं। मुम्बई से इटारसी और झाँसी से होकर जाने वाली मुखय ट्रेनें भोपाल से होकर जाती हैं।

सड़क से :          नियमित बस सेवा भोपाल को इन्दौर, ग्वालियर, जबलपुर और राज्य के सभी बड़े शहरों से जोड़ती हैं।

सम्पर्क पता :       राष्ट्रीय तकनीकी शिक्षक प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान,

                  शामला हिल्स, भोपाल - 462002 (म.प्र.) भारतवर्ष

                  दूरभाषः 91(0755) 2661600, 602, 607-608

      फैक्स : 2661996

भोपाल के विषय में :

      भोपाल मध्यप्रदेश की राजधानी प्राकृतिक सौंदर्य, ऐतिहासिकता और आधुनिक शहरी योजना का सम्मिश्रण है। यह राजा भोज द्वारा स्थापित ग्यारहवीं शताब्दी के शहर, भोजपाल के स्थान पर स्थित है। वर्तमान शहर का संस्थापक अफगान सैनिक दोस्त मोहम्मद (1708-1740) था। भोपाल आज एक बहुपक्षीय खाका प्रस्तुत करता है, पुराना शहर अत्याधिक (चौक बाजार) सुन्दर प्राचीन मस्जिदों व महलों के साथ अब तक अपने भूतपूर्व शासकों को वैभवशाली छाप को प्रभावित करता है, उनमें से शक्तिशाली बेगमों जिन्होंने सन्‌ 1819 से 1926 तक भोपाल पर राज्य किया का उत्तराधिकार उल्लेखनीय है। अपने हरे-भरे बहुत खूबसूरती से योजनापूर्वक व्यवस्थित किए सार्वजनकि उद्यानों और बगीचों तथा चौड़ी सड़कों एवं सरल और अधिक कारगर आधुनिक भव्य भवनों के साथ नया शहर वैसा ही प्रभावोत्पादक है। दो झीलें जिनसे यह सुन्दर शहर घिरा है। शहर की मुखय जीवन रेखा रही है और होगी क्योंकि ये झीलें अनेक लोगों की जीविका का सहारा तथा भोपाल का मुखय पर्यटक आकर्षण हैं। साँची के प्रसिद्ध बौद्ध स्तूप, भीमबैठका की प्रागऐतिहासिक गुफाएँ, सबसे बड़ा शिवलिंग मंदिर भोजपुर और ताजुल मस्जिद भारत में सबसे बड़ी मस्जिद  और उसके चतुरदिग भोपाल में स्थित है।

 मौसम :

भोपाल में वर्षा      :     1200 मि.मी. (जुलाई-सितम्बर)

भोपाल की जलवायु  :     ग्र्रीष्म : 440 से. - 250 से.

                        शीतकाल : 240 से. - 90 से.